किसान यूनियन का रेल रोको’ आंदोलन अब भी जारी, कई राजनीतिक दल किसानों के समर्थन में

कृषि बिल के खिलाफ देशभर के किसानों का विरोध प्रदर्शन कर रहे है। पंजाब के अमृतसर में लगातार दूसरे दिन ‘रेल रोको’ आंदोलन जारी है। कमेटी कृषि बिल के खिलाफ 24 से 26 सितंबर तक ‘रेल रोको’ आंदोलन कर रही है। रेल रोको आंदोलन को देखते हुए रेलवे ने शुक्रवार को कई ट्रेनों का रद्द कर दिया था। कई राजनीतिक दल भी विधेयक को ‘किसान-विरोधी’ करार देते हुए किसानों के समर्थन में आ खड़े हुए हैं।

किसान मजदूर संघर्ष समिति के महासचिव ने बताया कि किसान रेलवे ट्रैक पर अपने कपड़े उतारकर प्रदर्शन कर रहे हैं ताकि मोदी सरकार कृषि बिल को वापस लें। कल अकाली दल ने अपने प्रदर्शन में मोदी सरकार और कृषि बिल के खिलाफ कुछ नहीं बोला। वे अपनी स्थिति स्पष्ट नहीं कर रहें,वे राजनीति कर रहें। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों के विरोध का समर्थन करते हुए कहा कि मोदी सरकार द्वारा किसानों पर किए जा रहे अत्याचार और शोषण के ख़िलाफ़, आइये साथ मिलकर आवाज़ उठाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.