14 साल की 8वीं की छात्रा को अगवाकर स्कूल में रातभर किया गया दुष्कर्म

मीडीया से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार बंगाल काम करने गए एक मजदूर की 14 साल की बेटी को अगवा कर एक स्कूल में रातभर दुष्कर्म किया गया। पीड़िता आठवीं की छात्रा है। लड़की की मां की शिकायत पर पुलिस ने दूसरे दिन आरोपी और पीड़िता को बरामद कर लिया और पूछताछ के बाद आरोपी को छोड़ दिया। इसके बाद पीड़िता को पुलिस जीप से घर पहुंचा दिया गया।

लड़की को अगवा कर दुष्कर्म की यह घटना दुमका के तालझारी थाना क्षेत्र में छह जून की शाम हुई। घटना के तीन दिन बाद यह मामला तब तूल पकड़ा, जब 10 जून को पीड़तिा का मजदूर पिता आसनसोल (प.बंगाल) से अपने गांव लौटा। उसे पता चला कि उनकी बेटी को न्याय दिलाने की जगह पुलिस ने मामले को रफा-दफा कर दिया है। बुधवार को पीड़िता के पिता ने जब जब यह बात अपने गांव के लोगों को बताई तो लोग आक्रोशित हो गए। पीड़िता के गांव से करीब एक किमी के दायरे में आरोपी का भी घर है। लोगों के आक्रोश को शांत करने के लिए बुधवार को तालझारी थाना प्रभारी सशस्त्र बल के साथ गांव पहुंचे। मामले को सुलझाने के लिए स्थानीय समाजिक एवं राजनीतिक कार्यकर्ता जिला परिषद सदस्य चंद्रशेखर यादव, झामुमो नेता बैजून टूडू, रामबदन मरांडी भी गांव पहुंचे। ग्रामीणों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया गया। ग्रामीण घटना की प्राथमिकी दर्ज करने और दोषी युवकों को गिरफ्तार कर कार्रवाई करने की मांग कर रहे थे। पीड़िता ने बताया कि उसे बोलेरो से अगवा किया गया था।


आरोपी गिरफ्तार
दुमका के एसपी अंबर लकड़ा ने बताया कि पीड़िता के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। आरोपी को गिरतार कर लिया गया है। गुरुवार को उसे कोर्ट में पेश कर जेल भेजा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.